बलात्कार की घटनाओ

बलात्कार की घटनाओ पर बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने विपक्ष और मीडिया पर बोला हमला

भारतीय जनता पार्टी की नेता व सांसद मीनाक्षी लेखी ने बलात्कार की घटनाओ का मीडिया द्वारा ज्यादा प्रचारित करना और विपक्ष द्वारा घटनाओ पर सरकार को घेरना नागवार गुजरा| मीनाक्षी लेखी ने मीडिया से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अपनी नाराजगी जाहिर की और कहा कि जम्मू कश्मीर की बीजेपी इकाई ने कठुआ बलात्कार के मामले में दोषियों को कठोर से कठोर सजा देने की मांग पहले ही की हुई थी लेकिन मीडिया ने इसे कहीं भी नहीं दिखाया है|


पीएम मोदी तथा अन्य बीजेपी नेताओ द्वारा कल किये गये अनशन को लेकर कहा कि जब पार्टी नेता और पीएम मोदी जब अनशन कर रहे थे तो मीडिया सिर्फ कठुआ और उन्नाव बलात्कार की घटनाओ के मामले में ही सिर्फ सवाल कर रहा था| जबकि कठुआ मामले पर एक निष्पक्ष जांच की गई है| एसआईटी का गठन किया गया 6 -7 लोग गिरफ्तार भी किये गये| इसके आलावा मैं रिकॉर्ड में यह भी कहना चाहूंगी कि जम्मू बार एसोसिएशन के अध्यक्ष बीएस सलिथिया गुलाम नबी आज़ाद के पोलिंग एजेंट थे|

उन्नाव बलात्कार की घटनाओ मामले पर कहा कि उन्नाव की घटना 10 महीने पहले की है| पुलिस ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान लिया, इसमें विधायक का नाम नहीं लिया, फिर महिला ने पीएम और योगी आदित्यनाथ को चिट्ठी लिखी और इसमें विधायक पर आरोप लगा, फिर कार्यवाही हुई| विपक्ष के सरकार को घेरने पर कहा कि आप इनकी योजना देखिये की पहले ‘अल्पसंख्यक – अल्पसंख्यक’ चिल्लाओ फिर ‘दलित – दलित’ और अब ‘महिला – महिला’ और फिर किसी तरह प्रदेश की समस्याओ के लिये केंद्र को जिम्मेदार ठहराओ|

ये भी पढ़े – हिंदुत्व का रंग और बलात्कार की शर्मनाक घटनाये

यह सब प्रदेश सरकार द्वारा मामले पर की गई सख्त कार्यवाही को अनदेखी करते किया गया है| कठुआ मामले में बीजेपी नेताओ का आरोपियों के बचाव पक्ष में खड़े होने पर सफाई देते हुआ कहा कि पार्टी पहले ही इस घटना की निंदा कर चुकी है| जो 2 बीजेपी नेता विरोध में शामिल हुए थे वो लोगो द्वारा भटकाये गये थे| उनके लिए बस यही सबक है कि आपको एक पक्ष पर विश्वास नहीं करना चाहिये और कानून को अपना काम करने देना चाहिए|

गुलाम नबी आज़ाद ने मीनाक्षी के स्लेथिया वाले बयान पर जवाब देते हुए कहा कि हां, वह (जम्मू बार एसोसिएशन के प्रमुख बीएस स्लेथिया) मेरा मतदान एजेंट था, और लाल सिंह (भाजपा जम्मू और कश्मीर मंत्री) भी कांग्रेस में था, वे धर्मनिरपेक्ष थे लेकिन भाजपा ने जम्मू-कश्मीर में इतनी बुरी तरह से वातावरण को बिगाड़ दिया कि ये लोग अब सांप्रदायिक हो गए हैं|

अपनी राय दें

avatar
3000
  Subscribe  
Notify of