केरल में बाढ़

केरल में बाढ़ के समय देश का मीडिया कहाँ सो रहा था

किसी देश की अगर व्यवस्था को भंग करना हो तो उस देश के मीडिया को लापरवाह कर दो। भारत में मीडिया की स्थिति आजकल कुछ ऐसी ही है। जिसका नतीजा केरल में बाढ़ तथा वहां हुआ जान – माल का नुकसान सामने है। एक तरफ जहाँ मीडिया सरकार की चाटुकारिता करते हुए नहीं थकता तो दूसरी तरफ सरकार भी लापरवाही खुलकर दिखा रही है।

इन हालातों की वजह से भारतीय मीडिया की विश्वसनीयता विश्व में 176 वें पायदान पर तो पहुँच ही चुकी है। वहीं सरकार की तरफ से चार साल के लिए चुने गये रिजर्व बैंक के अंशकालिक डायरेक्टर एस गुरुमूर्ति ने तो अपने दिव्य ज्ञान से केरल में बाढ़ की वजह भी बता दी।

उन्होंने बताया कि केरल में बाढ़ का कारण महिलाओं का सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करना है। खैर सरकार की तरफ से चुने हुए लोगों के अजीब बयान आते ही रहते है। केरल में पिछले दो सप्ताह से लगातार बारिश हो रही थी। इन दो सप्ताहों के दौरान न तो देश के मीडिया को केरल का होश था और न ही सरकार को।

सबसे शर्मनाक तो यह था कि जिस समय विदेशी मीडिया केरल की बाढ़ को कवर कर रहा था उस वक़्त देश का मीडिया सरकार तथा उससे संबंधित व्यक्तियों की तारीफें पढ़ रहा था। मीडिया को शायद किसी भयावह स्थिति का इंतजार था। जिससे चैनलों पर टीआरपी का खेल खेला जा सके।

इसके लिए बकायदा इंतजार किया गया और अब स्थिति विनाशकारी हो चुकी है तो टीआरपी का खेल भी अच्छा ही होगा। मीडिया के पास बगदादी, सिद्धू का पाकिस्तान जाना, देशद्रोही, देशभक्ति आदि ऐसे मुद्दे है जिनसे जनता को लगातार गुमराह किया जा सकता है।

ये भी पढ़े – एस गुरुमूर्ति ने सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को बताया केरल बाढ़ की वजह

केरल में बाढ़ से अब तक 350 लोगों के मारे जाने की खबर है जबकि 3 लाख लोग बेघर हो चुके है। मौत का यह आंकड़ा अभी और भी बढ़ सकता है और इससे इनकार भी नहीं किया जा सकता क्योंकि अभी न जाने कितने लोग अपने बचाव का इंतजार कर रहें होंगे। केरल के मुख्यमंत्री पिनारई विजयन ने इसे सदी की सबसे भयंकर बाढ़ बताया है।

एक अनुमान के मुताबिक केरल को बाढ़ से 19500 करोड़ का नुकसान हो चुका है। पिनारई विजयन ने बताया कि इस समय बाढ़ से निपटने के लिए तत्काल 2000 करोड़ रुपये के बजट की जरूरत है। पीएम मोदी ने भी दरियादिली दिखाते हुए केंद्र की तरफ से अब तक 500 करोड़ रुपये की राहत राशि की घोषणा कर दी है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने मोदी सरकार से इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की है। अब देखना यह है कि क्या सरकार इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करके केंद्र के खजाने के दरवाजे खोलती है या नहीं। और देश का जिहादी मीडिया केरल की सुध सही तरीके से लेगा कि नहीं।

0 0 vote
Article Rating

NS Team

News Scams is a online community which provide authentic news content to its users.
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments