गुजरात के

गुजरात के सूरत में दुष्कर्म के मामले में फंसे जैन मुनि शांति सागर

गुजरात के सूरत में जैन मुनि शांति सागर उर्फ गिरिराज शर्मा एक युवती के साथ बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार हो चुके हैं | लेकिन जैसे ही बाबा के अनुयायियों को इस बात का पता चला तो उन्होंने पुलिस जाँच से पहले ही पूरी तहकीकात करली और घोषित कर दिया कि लड़की ही झूठ बोल रही है और उसके बाद हंगामा काटना शुरू कर दिया | लेकिन मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद मामला उल्टा पड़ते देख अनुयायी भी ठंडे पड़ गए |

पुलिस के अनुसार मामला मूल रूप से मध्यप्रदेश की रहने वाली 19 वर्षीय लड़की का है | जिसमे लड़की ने जैन मुनि शांति स्वरुप पर आरोप लगाया है कि 1 अक्तूबर को गुजरात के सूरत के नानपुरा टीमलियावाड में उसके साथ रेप किया | वह अपने परिवारजनों के साथ वहाँ धार्मिक प्रसंग में गई थी |

ये भी पढ़े – रोहिंग्या : कौन है ये और कहाँ से आये थे पढिये पूरी खबर

जैन मुनि शांति स्वरुप ने धार्मिक क्रियाओ का हवाला देकर उसको रात को रुकने के लिए कहा और रात को मौका पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया | घटना के बाद लड़की ने सूरत के पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर जानकारी दी और मामले की शिकायत की | जिसके बाद युवती की शिकायत के आधार पर अठवां थाने में एफआईआर दर्ज कर ली गई |

पुलिस ने शिकायत के आधार पर युवती को मेडिकल जाँच कराने के लिए न्यू सिविल हॉस्पिटल भेजा और वहाँ दुष्कर्म की पुष्टि होते ही पुलिस मामले की जाँच में जुट गई | पुलिस ने जैन मुनि शांति स्वरुप को गिरफ्तार कर लिया | मामले की जानकारी जब सूरत के जैन समाज के कुछ संघठनो को लगी तो वो जैन मुनि शांति स्वरुप के समर्थन में प्रदर्शन करने लगे |

उनका कहना था की जब घटना 1 अक्टूबर की है और 13 अक्टूबर को शिकायत करवाना साजिश जैसा है | साथ ही उन्होंने लड़की तथा उनके परिजनों के चरित्र के बारे में जांच करने की मांग की |

अपनी राय दें

avatar
3000
  Subscribe  
Notify of