ट्राई के चेयरमैन ने आधार नंबर ट्वीट कर दिया चैलेंज तो हैकर ने जानकारियाँ की सार्वजानिक

ट्राई के चेयरमैन
Image from Google

ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर एक यूजर के ट्वीट का जवाब देते हुए अपना आधार नंबर ट्वीट किया। साथ ही ओपन चैलेंज दिया कि उनके आधार नंबर का गलत उपयोग करके दिखाए।

हालाँकि जिस कथित फ्रांस सिक्योरिटी रिसर्चर व हैकर के ट्वीट का जवाब देते हुए आधार नंबर सार्वजानिक किया था, उस सिक्योरिटी रिसर्चर व हैकर ने ट्राई के चेयरमैन आर एस शर्मा का पता, जन्म तिथि, ईमेल, ऑलटरनेट फोन नंबर और पेन कार्ड समेत कई जानकारियाँ सार्वजानिक कर दी और सुझाव दिया कि आखिर क्यों आधार से निजी जानकारियाँ को जोड़ना अच्छा आईडिया नहीं है।


साथ ही उसने बताया कि आर एस शर्मा का आधार से जुड़ा हुआ फ़ोन नंबर उनके सेक्रेटरी का है और उनका बैंक अकाउंट आधार से जुड़ा हुआ नहीं है। वहीं एक अन्य ट्विटर यूजर ने डिस्क्लेमर के साथ ट्वीट करते हुए आर एस शर्मा का मोबाइल नंबर भी सार्वजानिक कर दिया।


जिसके जवाब में आर एस शर्मा ने लिखा कि ‘ इतना डरते क्यों हो भाई? डिस्क्लेमर की क्या जरूरत है? यह जानकारियाँ कोई स्टेट सीक्रेट नहीं है। मेरी जन्मतिथि भारत सरकार के पोर्टल पर 40 साल से छपी हुई है। घर का पता थोड़ा पुराना है, नया चाहिए तो मैं दे दूंगा। चाहिए क्या? ‘

आर एस शर्मा थे पूर्व यूआईडीएआई (भारत की विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) महानिदेशक

आर एस शर्मा ट्राई के चेयरमैन से पूर्व यूआईडीएआई के महानिदेशक थे। इसके आलावा वो आधार कार्यक्रम के काफी बड़े समर्थक भी है। उनके ट्वीट से यह तो जाहिर होता है कि ट्राई का चेयरमैन होने के बावजूद उनका आधार प्रोग्राम के लिए लगाव कम नहीं है।

पहले भी आधार सुरक्षा को लेकर उठ चुके है सवाल

गौरतलब हो कि आधार सुरक्षा और निजी जानकारियों को इसमें शामिल करने को लेकर समय – समय पर सवाल उठाये जाते रहे है। वहीं सरकार लोगों की जानकारियों की सुरक्षा को लेकर दावा करती रही है कि आधार का डाटा 13 फुट की चौड़ी दीवार में सुरक्षित है। हालांकि सरकार के इस दावे की कई बार पोल खुलती रही है।

ये भी पढ़े – मराठा आरक्षण मुद्दे पर सीएम देवेंद्र फडणवीस ने की शांति की अपील

क्या आधार की ऐसी जानकारियों का हो सकता है गलत इस्तेमाल

आधार से जुडी हुई कई निजी जानकारियों का आसानी से गलत इस्तेमाल हो सकता है। आपकी ईमेल आईडी तथा फ़ोन नंबर जैसी जानकारियों को आसानी से इंटरनेट पर बेचा जा सकता है। आपके बैंक खाते की जमा राशि को हैकर्स आपके आधार जानकारी के जरिये निशाना बना सकते है। इसलिए कई मायनों में आधार की जानकारी गलत इंसान के हाथों में पहुंचना खतरनाक साबित हो सकता है।

1
अपनी राय दें

avatar
3000
1 Comment threads
0 Thread replies
1 Followers
 
Most reacted comment
Hottest comment thread
1 Comment authors
Rahul Raj Recent comment authors
  Subscribe  
newest oldest most voted
Notify of
Rahul Raj
Member
Rahul Raj

Is ki to baj gayi