यूआइडीएआइ ने बताया आधार पूरी तरह सुरक्षित लेकिन सोशल मीडिया पर शेयर नहीं करें

यूआइडीएआइ
Image from Google

आधार डाटा को संभालने वाली संस्था यूआइडीएआइ ने अपने साइट तथा ट्विटर एकाउंट पर फ्रीक्वेंट आस्क क्वेश्चन या सवाल जवाब में बताया कि आधार जानकारी आप बिना किसी चिंता के आप शेयर कर सकते है।

आधार डाटा पूरी तरह सुरक्षित है लेकिन अपना आधार नंबर सार्वजानिक प्लेफॉर्म्स जैसे सोशल मीडिया या इंटरनेट पर कभी शेयर न करें। जैसे पैन कार्ड, डेबिट-क्रेडिट कार्ड आदि की जानकारियाँ इंटरनेट पर शेयर नहीं की जाती है वैसे ही आधार नंबर इंटरनेट पर शेयर नहीं किया जाता।

इसके अलावा यूआइडीएआइ ने बताया कि आधार अन्य पहचान पत्रों से अधिक सुरक्षित है। जिसकी वजह से इसके गलत कार्यो में प्रयोग होने की गुंजाईश कम है। इसमें फिंगर प्रिंट, क्यू आर कोड और ओटीपी जैसे मानकों को प्रयोग किया जाता है।

गौरतलब हो कि ट्राई के चीफ आर एस शर्मा के द्वारा सोशल मीडिया पर दिए गए चैलेंज के बाद आधार डाटा की सुरक्षा को लेकर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए है। ट्राई चीफ आर एस शर्मा ने सोशल मीडिया पर अपना आधार नंबर शेयर करते हुए चैलेंज किया था कि उनके आधार नंबर का गलत उपयोग करके दिखाया जाए।

सोशल मीडिया पर मौजूद कई हैकर्स तथा इंटरनेट सिक्योरिटी रिसर्चर ने उनके चैलेंज को स्वीकार करते हुए उनकी निजी जानकारियां सार्वजानिक कर दी थी। इन जानकारियों में ट्राई चीफ के बैंक अकाउंट का खाता नंबर, ईमेल आईडी, मोबाइल नंबर, व्हाट्सप्प के नंबर तथा उनके मोबाइल के फोटो तक भी सार्वजानिक कर दिए थे।

ये भी पढ़े – सीबीआई जज लोया की मौत के दिन सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे भी थे रविभवन में मौजूद

इसके अलावा एक हैकर ने तो आर एस शर्मा की बेटी को ईमेल करके ब्लैकमेल भी किया था। जिसमे हैकर ने एक निश्चित राशि की मांग की और कहा कि अगर उसे वह रकम न मिली तो आर एस शर्मा के निजी ईमेल इंटरनेट पर सार्वजानिक कर देगा।

उधर यूआइडीएआइ इस सब के बावजूद आधार डाटा के सुरक्षित होने के लगातार वायदे कर रहा है। हालांकि यूआइडीएआइ यह भी सलाह दे रहा है कि अपनी जानकारियां सोशल मीडिया पर शेयर न करें।

अपनी राय दें

avatar
3000
  Subscribe  
Notify of